मध्य-प्रदेश

मप्र: जंगल कैम्प के माध्यम से पर्यटक प्रकृति से जुड़ सकेंगे

भोपाल: वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा है कि ईको जंगल कैम्प परिसर में बच्चों से लेकर आम आदमी की सभी गतिविधियों को विकसित किया गया है। इस परिसर में आने वाले पर्यटकों को प्रकृति का आनंद महसूस होगा। ईको जंगल कैम्प के माध्यम से पर्यटन प्रकृति से जुड़ सकेंगे। वन मंत्री भोपाल-विदिशा रोड पर बने सतधारा ईको जंगल कैम्प का शुभारंभ कर रहे थे। वन मंत्री ने कहा कि इससे स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे।

वन मंत्री ने बताया कि मध्यप्रदेश ईको पर्यटन विकास बोर्ड द्वारा तैयार किये गए इस परिसर से जल, जंगल, पर्यावरण और ऑक्सीजन को समझने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि जंगल कैम्प को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में लाया जायेगा। परिसर में आने वाले पर्यटकों से नार्मल शुल्क लिया जाएगा। सतधारा में ईको जंगल कैम्प का शुभारंभ करने के बाद बैलगाड़ी में बैठने, रस्सी पर चलने, तीरंदाजी, बास्केटबॉल तथा क्रिकेट सहित अन्य गतिविधियों का आनंद लिया। उन्होंने कैम्प स्थल पर मिट्टी से दीये तथा कलाकृतियां बनाने वाले कलाकारों को 1100-1100 रूपये देने की घोषणा की।

वन मंत्री कुंवर विजय शाह ‘अनुभूति’ स्मारिका का विमोचन किया। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि वन विभाग द्वारा विद्यार्थियों को प्राकृतिक संपदा के संरक्षण एवं प्रोत्साहित और जागरूक करने के लिये ‘अनुभूति’ कार्यक्रम हाथ में लिया गया है। यह स्मारिका विद्यार्थियों के लिये महत्वपूर्ण दस्तावेज साबित होगी।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव वन अशोक वर्णवाल, प्रमुख सचिव जनसम्पर्क शिवशेखर शुक्ला, प्रधान मुख्य वन संरक्षक सहित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close