उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश सरकार ग्रामीण इलाकों में एबी तार लगाएगी

उत्तर प्रदेश सरकार निर्बाध विद्युत आपूर्ति एवं दुर्घटना को रोकने के लिए प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में सभी एलटी खुले तारों को हटाकर उनकी जगह एरियल बंच केबल (एबी) लगाएगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार निर्बाध विद्युत आपूर्ति एवं दुर्घटना को रोकने के लिए प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में सभी एलटी खुले तारों को हटाकर उनकी जगह एरियल बंच केबल (एबी) लगाएगी। खुले तारों के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में चोरी रोकने और दुर्घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए ऐसा निर्णय लिया गया है। सरकार की कोशिश है कि 2021 तक प्रदेश के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में पुराने तारों को बदलकर नए एबी केबल लगा दिए जाएं, जिससे ग्रामीणों क्षेत्रों को मिलने वाली बिजली में किसी प्रकार की रुकावट न हो।

इस योजना के अंतर्गत सरकार ने एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) से लोन लिया है। जिसकी 3100 करोड़ रुपये की पहली किस्त को मंजूरी मिल गई है। इसके तहत 1 हजार से ऊपर की आबादी वाले प्रदेश के 30 हजार मजरों में 66 हजार किलोमीटर तार बदले जाएंगे। सरकार ने इसके लिए निविदा भी आमंत्रित कर दी है। अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में चयनित की गई कम्पनियां केबल बदलने का काम शुरू कर देंगी।

एबी केबल लग जाने से कटिया फंसा कर बिजली चोरी की समस्या से निजात मिल जाएगी। शार्ट-सर्किट जैसी समस्या भी नहीं रहेगी। इस केबल का फायदा यह होगा कि हर फेज में लोड सामान्य रहेगा व ट्रांसफार्मर पर लोड नहीं बढ़ेगा।

उत्तर प्रदेश सरकार में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया, “प्रदेश में दशकों से नहीं बदले गए जर्जर तार निर्बाध आपूर्ति में बड़ी बाधा हैं। सरकार ने पिछले साल में 8240 किमी़ जर्जर तार बदले हैं। इस साल 27,000 किमी जर्जर तारें बदलने का काम चल रहा है। 2021 तक हम 48,403 मजरों की 66,320 किमी जर्जर तार बदलेंगे।”

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close