मध्य प्रदेश

MP: भाजपा में शामिल हुए 25 विधायकों की बढ़ सकती है मुश्किलें, कांग्रेस ने ली हाईकोर्ट की शरण

जबलपुर. मध्यप्रदेश में उप चुनाव को लेकर सरगर्मी तो बढ़ गई है साथ ही दोनों ही पार्टियां आक्रामक हो गई है. ऐसे में कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए 25 विधायकों की मुश्किलें भी बढ़ सकती है, कांग्रेस ने इन विधायकों के खिलाफ लगाई गई याचिका को हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया है, याचिका में विधायकों पर चुनाव मं खर्च होने वाली एक-एक करोड़ की रकम लेने की बात कही गई है.

--advertisement--

भोपाल के कांग्रेस पार्षद गुड्डू चौहान ने बताया कि पार्टी की तरफ से हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई है. जिसमें कहा है कि कांग्रेस विधायक 35-35 करोड़ रुपए लेकर भाजपा में शामिल हुए हैं.

इसके कारण सरकार गिर गई. उनके इस्तीफा देने के कारण दोबारा से चुनाव हो रहा हैं. हमारी हाई कोर्ट से मांग थी कि प्रत्येक विधानसभा में आने वाले लगभग एक करोड़ खर्च का भुगतान इन विधायकों से लिया जाए. क्योंकि यह विधायक थे तो इस्तीफा क्यों दिया. इस्तीफा दे दिया, तो फिर क्यों अब विधायक का चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस की याचिका को हाईकोर्ट ने स्वीकार कर लिया है.

चुनाव आयोग से भी शिकायत की जा चुकी-

मध्यप्रदेश में उप चुनावों में भाजपा प्रत्याशी और मंत्रियों के खिलाफ कांग्रेस चुनाव आयोग में शिकायत कर चुका है. उसने अनूपपुर से भाजपा प्रत्याशी बिसाहूलाल सिंह को पद से हटाए जाने के साथ ही सुरखी, ग्वालियर डबरा और सांची में अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोला है. इस संबंध में कांग्रेस ने पांच पत्र चुनाव आयोग को लिखे हैं. इसमें उन्होंने भाजपा और उनके उम्मीदवारों पर सरकारी मिशनरी का दुरुपयोग करने के आरोप लगाए हैं.

इन मंत्रियों के खिलाफ शिकायत की-

कांग्रेस ने भाजपा की चुनाव आयोग से शिकायत करके सरकार में शामिल 14 मंत्रियों को हटाने की मांग की. कांग्रेस ने इसमें डबरा से भाजपा प्रत्याशी और महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी के बयान का हवाला देने के साथ ही ग्वालियर में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के कांग्रेस कार्यकर्ता से उलझने के मामले का हवाला भी दिया है.

ये है 14 मंत्री जिन्होने पार्टी बदली-

तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, बिसाहू लाल सिंह, ऐंदल सिंह कंसाना, इमरती देवी, प्रभुराम चौधरी, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर, हरदीप सिंह डंग, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, बृजेंद्र सिंह यादव, गिर्राज दंडोदिया, सुरेश धाकड़ और ओपीएस भदौरिया शामिल हैं.

कांग्रेस से भाजपा में आए विधायक-

मुरैना, मेहगांव, ग्वालियर पूर्व, ग्वालियर, डबरा, बमौरी, अशोक नगर, अम्बाह, पौहारी, भांडेर, सुमावली, करेरा, मुंगावली, गोहद, दिमनी, सुवासरा, मान्धाता, सांवेर, बदनावर, हाटपिपल्या, नेपानगर, सांची, भोपाल, मलहरा,  छतरपुर, अनूपपुर, राजगढ़, और सुरखी सागर.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close