छत्तीसगढ़

रायपुर: श्री अय्यप्पा मंदिर में 15 जनवरी मकर संक्रांति पर लक्षदीप महोत्सव का आयोजन

संध्या समय एक लाख ज्योति प्रज्जवलित होगी

रायपुर: प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर बुधवार 15 जनवरी को टाटीबंध स्थित भगवान श्री अय्यप्पा के मंदिर में पूजा आराधना के विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हैं। प्रेस को जारी एक विज्ञप्ति में उपरोक्त जानकारी देते हुए श्री अय्यप्पा सेवा संघम के अध्यक्ष विनोद पिल्लई ने बताया कि नववर्ष में ग्रहों की विपरीत दशाओं के कारण संभावित दोषों से मुक्ति हेतु शनिश्वर भगवान श्री अय्यप्पा के मंदिर में बुधवार, 15 जनवरी को विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम का शुभारंभ ब्रह्ममुहूर्त में मंदिर की पवित्र 18 सीढियों के खुलने के साथ ही प्रारंभ होगा जो देर रात्रि तक जारी रहेगा। प्रातः 4.30 बजे प्रभात फेरी तथा निर्माल्य दर्शन के साथ ही भगवान अय्यप्पा का अभिषेक किया जायेगा। तत्पश्चात् अष्टद्रव्य गणपति होम एवं ऊषा पूजन, भागवत पारायणम् सम्पन्न होगी। इसके बाद प्रातरू 8.30 बजे पल्लीकेट्टु सहित पवित्र 18 सीढियों का आरोहण किया जायेगा। केवल व्रत लिए हुए भक्तों को पल्लीकेट्टु के साथ सीढ़ी चढने की अनुमति दी जाएगी ।

आरोहण के पश्चात् प्रातः 9.00 बजे घी अभिषेकम् 10.00 बजे से 10.30 बजे तक मध्यान्ह पूजन (उच्च पूजा) होगी। दोपहर 12.30 से 3.30 तक आम लंगर का आयोजन किया गया है। संध्या 5.00 बजे से 7.00 बजे तक दीप अलंकार (लक्षदीप समारोह), निर्माला एवं आरती होगी। भगवान स्वामी अय्यप्पा ‘ज्योतिश्वरूपम्’  के रूप में भी जाने जाते हैं, यही कारण है कि इस वर्ष से दीपअलंकार को भगवान अय्यप्पा के चरणकमलों में समर्पण स्वरूप ‘लक्षदीपम्’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है। संध्या 8.00 से भजन संध्या कोट्टायम श्री कुमार एवं पार्टी के द्वारा की जायेगी । संध्या समय भक्तजन लाखों दीपकों से मंदिर प्रांगण को सुसज्जित करेंगे। मकर ज्योति जलाने के इच्छुक भक्तजन तेल एवं बत्ती साथ लाकर मकर ज्योति जलाकर पुण्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

श्री अय्यप्पा सेवा संघम् द्वारा इस अवसर पर समस्त श्रद्धालुओं से अधिक से अधिक संख्या में आकर भगवान अय्यप्पा का आशीर्वाद ग्रहण करने का आग्रह किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close