छत्तीसगढ़

महासमुन्द: हाथियों की समस्या को लेकर जल्द होगी सीएम से मुलाकात

हाथियों को उनके रहवास क्षेत्र में विस्थापित करने प्रोजेक्ट तैयार करने का लिया निर्णय

  • गुडरूडीह में ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों व अफसरों की बीच हुई मैराथन बैठक

महासमुंद: सिरपुर इलाके में हाथियों को उनके रहवास क्षेत्र में विस्थापित करने ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों की गुरूवार को मैराथन बैठक हुई। जिसमें हाथियों को रहवास क्षेत्र में विस्थापित करने प्रोजेक्ट तैयार करने का निर्णय के साथ ही एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू व महासमुंद विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर के नेतृत्व में मुख्यमंत्री व वनमंत्री से मुलाकात करेंगे।

गुरूवार को ग्राम गुडरूडीह में हुई बैठक में सर्वप्रथम राधेलाल सिन्हा ने हाथियों के आंतक के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के 58 गांव 2016 से हाथियों के आतंक से प्रभावित है। हाथियों के आतंक से मुक्ति दिलाने के लिए लगातार शासन-प्रशासन का ध्यान आकर्षित कराया जा रहा है। लेकिन अभी तक इसमें सफलता नहीं मिल पाई है। जिससे ग्रामीण दहशत के बीच जीवन यापन करने मजबूर हो रहे हैं।

बैठक में शामिल होने पहुंचे अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू ने कहा कि वास्तव में इस क्षेत्र में हाथियों का आतंक है। हाथी न केवल फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं बल्कि जनहानि भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हाथियों को दूसरे जगह विस्थापित करने के लिए स्थानीय स्तर पर प्रोजेक्ट बनाए जाने की जरूरत है। इसके लिए उन्होंने मौके पर उपस्थित डीएफओ मयंक पांडे को आवश्यक निर्देश दिए। विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने कहा कि हाथी प्रभावित गांवों के ग्रामीणों की पीड़ा वे समझ रहे हैं। छत्तीसगढ़ सरकार जनहानि व धनहानि रोकने कोशिश कर रही है। लेमरू प्रोजेक्ट बनाया गया है। इसी की तर्ज पर यहां भी एक प्रोजेक्ट बनाए जाने की जरूरत है। इसके लिए वन विभाग के अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया है। वन विभाग और पुलिस विभाग को तालमेल मिलाकर काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जल्द ही एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री व वनमंत्री से मुलाकात कर क्षेत्र में व्याप्त हाथियों की समस्या के निराकरण के लिए मांग रखेंगे। बैठक के दौरान अरूण चंद्राकर ने भी कई सुझाव दिए। रमाकांत ध्रुव ने ग्रामीणों को टार्च उपलब्ध कराने की मांग रखी।

बैठक में प्रमुख रूप से दाउलाल चंद्राकर, लक्ष्मण पटेल, सुनील शर्मा, मनोजकांत साहू, खिलावन साहू, थनवार यादव, इदरीश भाई, दारा साहू, मिंदर चावला, लहरी सिंह ठाकुर, राजेंद्र साहू, मनराखन ठाकुर, रूपसिंह नेताम, शंकर ध्रुव, अमजद खान, हीरालाल ध्रुव, यादराम ध्रुव, गोवर्धन साहू, देवनारायण सहित डीएफओ पांडे, एसडीओ नाविक, रेंजर मानिकपुरी आदि मौजूद थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close