छत्तीसगढ़

कोरिया: अमृतधारा जलप्रपात को प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने कलेक्टर ने ली संबंधित अधिकारियों की बैठक

कोरिया: कलेक्टर एस एन राठौर ने मनेन्द्रगढ विकासखण्ड के अंतर्गत स्थित पर्यटन स्थल अमृतधारा के विश्राम गृह में अमृतधारा जलप्रपात को प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने हेतु संबंधित विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने गत माह जून में आयोजित बैठक में दिए निर्देशों की प्रगति की जानकारी ली। बैठक में एसपी चन्द्रमोहन सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती तुलिका प्रजापति, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व आर.पी.चौहान तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर राठौर ने कॉटेज में पर्यटकों के ठहरने के लिए कॉटेज में सुधार, फर्नीचर, बिजली, कैंटीन आदि सभी आवश्यक सुविधाओं को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिये। यहां ठहरने के लिए शीघ्र ही राशि भी तय कर आनलाईन बुकिंग की सुविधा दी जायेगी। साथ ही विश्राम गृह के समीप पुराने भवनों को डिस्मेंटल किये जाने की जानकारी ली। बैठक में कलेक्टर ने पीएचई विभाग के अधिकारी से कॉटेज में पानी की समस्या पर चर्चा करते हुए शीघ्र पानी की आपूर्ति कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कॉटेज में पानी संग्रहण के लिए पानी टंकी स्थापित करने, सुरक्षा के लिए वन रक्षक एवं कॉन्स्टेबल की ड्यूटी लगाने, पर्यटन स्थल में स्वच्छता बनाये रखने एवं निगरानी के लिए सीसी टीवी कैमरा लगाने, बच्चों के मनोरंजन के लिए खेल के साधन, सार्वजनिक शौचालय में साफ-सफाई, साइन बोर्ड लगाने, मुख्य गेट के रंग-रोगन एवं पर्यटन स्थल के सौंदर्यीकरण हेतु पौधरोपण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। इसके साथ ही उन्होंने पर्यटन सूचना केंद्र एवं जलप्रपात के पास पर्यटकों की सुरक्षा के लिए रेलिंग बनाने के निर्देश दिये।

बैठक में कलेक्टर ने केन्टीन भवन को शीघ्र ही प्रारंभ करने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया एवं विभिन्न विषयों पर चर्चा करते हुए पर्यटकों को आकर्षित करने अधिकारियों से सुझाव लिए। कलेक्टर ने पर्यटन स्थल अमृतधारा में बनाये गये जिला पंचायत संसाधन केंद्र भवन, पुलिस सहायता केंद्र, लोकल हैन्डीक्राफ्ट मार्केट, कॉटेज आदि का अधिकारियों के साथ जायजा लिया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close