June 10, 2023   Admin Desk



Lucknow: कलेक्ट्रेट सभागार में बुलाई गई ज़िला स्तरीय बैंकर्स समिति  की त्रैमासिक बैठक

लखनऊ/संवाददाता-संतोष उपाध्याय

लखनऊ Lucknow: राजधानी लखनऊ के जिलाधिकारी सूर्य पाल गंगवार द्वारा मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार लखनऊ में बैंकर्स की ज़िला स्तरीय पुनरीक्षण समिति  की त्रैमासिक बैठक का आयोजन किया गया। सभा में वार्षिक “ज़िला ऋण योजना: 2023-24“ पुस्तक का विमोचन भी किया गया। जिला  वार्षिक ऋण योजना के अंतर्गत 14,600 करोड़ रुपये के ऋण वितरण का लक्ष्य समस्त बैंकों को आवंटित किया गया। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा जनपद के ऋण जमा अनुपात की गहन समीक्षा की गई। जिलाधिकारी की निरंतर समीक्षा व बैंको द्वारा श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए गत वर्ष 42.85% की तुलना में इस वर्ष जनपद का ऋण जमाअनुपात 47.77% पहुंचा। साथ ही कुल ऋण में इस साल 14.74 % की दर से वृद्धि दर्ज  गयी है। जिसके लिए जिलाधिकारी द्वारा श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बैंको की प्रसंशा की गई।जिलाधिकारी ने 30% से कम ऋण जमा अनुपात वाले बैंकों की प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की तथा अपना ऋण जमा अनुपात बैंक मानकों के अनुरूप 40% से अधिक करने के लिए निर्देशित किया |

जिलाधिकारी ने अच्छे ऋण जमा अनुपात वाले बैंकों जैसे कि बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र , बैंक ऑफ़ इंडिया, बैंक ऑफ़ बड़ोदा , पंजाब एंड सिंड बैंक , पंजाब नेशनल बैंक , यूनियन बैंक ऑफ़ इन्डिया और आईसीआईसीआई बैंक की प्रशंसा भी की तथा स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, फ़ेडरल बैंक और करुर वैश्य बैंक के ऋण जमा अनुपात पर नाराजगी जताते हुए यथासंभव प्रयास कर सुधार करने के लिए निर्देशित  किया। उक्त के साथ ही जिलाधिकारी द्वारा ACP (ऐनुअल क्रेडिट प्लान) की भी समीक्षा की गई। एलडीएम द्वारा जिलाधिकारी को बताया गया की ACP में प्रायर्टी सेक्टर, एमएसएमई व अन्य प्रायर्टी सेक्टर में कुल 18207 करोड़ के नए लोन सेशन के लक्ष्य के सापेक्ष 52151 करोड़ के लोन किए गए सेशन, जोकि लक्ष्य का 286% रहा, जिसके लिए जिलाधिकारी द्वारा श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बैंको की प्रशंशा की गई और निर्देश दिए की जिन बैंको द्वारा अच्छा कार्य किया जा रहा है उनको प्रशंशा पत्र और जिन बैंको की प्रगति मानक के अनुरूप नहीं है उनको निंदा पत्र जारी किया जाए।

उक्त के बाद जिलाधिकारी ने जिले के 600 गांवों में बैंकों द्वारा 10 -10 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना करके जिले के अभूतपूर्व विकास में बैंकर्स को ग्रोथ-इंजन बनकर जिले के कायाकल्प में महत्पूर्ण योगदान के लिए प्रेरित किया। साथ ही जिले के समस्त किसानों को किसान ऋण पत्र (के.सी.सी.) द्वारा आच्छादित किये जाने तथा वंचित किसानों को कृषि ऋण की अन्य सुविधाओं से आच्छादित करने हेतु कृषि ऋण वृद्धि की योजना बनाकर सभी को ऋण सुविधा प्रदान करने के लिए प्रेरित किया गया। इस मैराथन मीटिंग में जिला ऋण योजना तथा ब्लॉक स्तरीय ऋण योजना की पुस्तिका का विमोचन  जिलाधिकारी सूर्य पाल गंगवार, अपर जिलाधिकारी न्यायिक गरिमा स्वरुप, बैंक ऑफ़ इंडिया के आंचलिक प्रबंधक मनोज कुमार श्रीवास्तव, अग्रणी जिला प्रबंधक मनीष पाठक तथा समस्त विभागाध्क्षों तथा बैंकर्स साथियों की उपस्थिति में किया गया। जिलाधिकारी ने बैंकों की समस्त ऋण सुविधाओं द्वारा औधोगिक विकास में जिले के कायाकल्प में सकारात्मक सहयोग दिए जाने के लिए आह्वाहन किया | एल डी एम लखनऊ मनीष पाठक द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ सभा समाप्त हुयी |




Advertisement

Trending News

Important Links

© Bharatiya Digital News. All Rights Reserved. Developed by NEETWEE