June 08, 2023   Admin Desk   



छत्तीसगढ़ का 'कलिंगा विश्वविद्यालय' NIRF की वर्ष 2023 की 101-150 रैंकिंग में में स्थान मिला

रायपुर Raipur: कलिंगा विश्वविद्यालय मध्य भारत का एक प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थान है। सिर्फ कुछ ही वर्षों में यह छत्तीसगढ़ प्रदेश का सर्वोत्कृष्ट निजी विश्वविद्यालय तो है ही, साथ ही साथ अंतर्राष्ट्रीय ख्याति भी प्राप्त कर चुका है। एनआईआरएफ 2023 की रैंकिंग में यह छत्तीसगढ़ का एकलौता विश्वविद्यालय है, जिसे उच्च शिक्षण संस्थाओं के बीच 101-150 की सूची में स्थान मिला है।

उच्चशिक्षा के क्षेत्र में नेशनल इंस्टीट्यूटशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) के द्वारा दी गयी रैंकिंग का महत्वपूर्ण स्थान है, जिसके द्वारा संपूर्ण देश के उच्च शैक्षणिक संस्थानों की गुणवत्ता का मूल्यांकन करके उन्हें रैकिंग प्रदान की जाती है। यह रैंकिंग पूर्णतः वस्तुनिष्ठ, निष्पक्ष और पारदर्शी मूल्यांकन के लिए प्रसिद्ध है जिसमें देश के सभी प्रतिष्ठित उच्च शैक्षणिक संस्थान उत्सुकता से भाग लेते हैं। एनआईआरएफ उच्च शैक्षणिक संस्थानों की गुणवत्ता का सभी मानकों में मूल्यांकन करके उन्हें रैकिंग प्रदान करता है। कलिंगा विश्वविद्यालय के लिए यह खुशी और गर्व का क्षण है कि उसे देश के सर्वोत्कृष्ट 150 विश्वविद्यालयों में शामिल किया गया है। छत्तीसगढ़ में वर्ष 2023 की एनआईआरएफ की रैंकिंग में केवल कलिंगा विश्वविद्यालय ही 101-150 रैंकिंग में सम्मिलित हो पाया है I यह सम्मानित सूची में सम्मिलित होने वाला छत्तीसगढ़ प्रांत का यह पहला विश्वविद्यालय है जबकि छत्तीसगढ़ के अन्य कोई भी विश्वविद्यालय देश के शीर्ष 150 विश्वविद्यालय में स्थान नहीं ले पाए।

विदित हो कि एनआईआरएफ के द्वारा प्रत्येक वर्ष देश के समस्त विश्वविद्यालयों की गुणवत्ता के मूल्यांकन के पश्चात रैंकिंग जारी की जाती है।जिसमें विश्वविद्यालयों में उपलब्ध शिक्षण संसाधन, नवाचार, गुणवत्तापूर्ण शोध, शिक्षक-छात्र अनुपात आदि विभिन्न मानकों के आधार पर राष्ट्रीय स्तर पर मूल्यांकन किया जाता है। सिर्फ कुछ वर्ष पहले स्थापित छत्तीसगढ़ का कलिंगा विश्वविद्यालय एनआईआरपीएफ रैंकिंग में लगातार सुधार करने में सफल रहा है और छत्तीसगढ़ प्रदेश में  शीर्षस्थ स्थान प्राप्त करने वाला विश्वविद्यालय बन गया है। 

कलिंगा विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. आर. श्रीधर ने इस उपलब्धि का श्रेय विश्वविद्यालय परिवार के समस्त सदस्यों के टीमवर्क को बधाई देते हुए कहा कि -पिछले कुछ वर्षों में हम सभी को कोरोना की वजह से विपरीत परिस्थितियों और अनेक चुनौतियों का सामना करना पड़ा है उसके बावजूद भी विश्वविद्यालय परिवार की निष्ठा, कार्यकुशलता और अथक श्रम के परिणामस्वरूप हम सभी ने लगातार बेहतर करने की कोशिश की है ओर यह सफलता अर्जित करी है I हमें पूरी उम्मीद है कि भविष्य में हम नयी उपलब्धियों को हासिल करके, छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि देश में उच्च शिक्षा प्रदान करने वाले शीर्षस्थ विश्वविद्यालयों में सम्मिलित होंगे।

कलिंगा विश्वविद्यालय के महानिदेशक डॉ. बैजू जॉन ने बताया कि- एनआईआरपीएफ रैंकिंग में छत्तीसगढ़ में शीर्षस्थ स्थान पर सम्मिलित होने के लिए  कलिंगा विश्वविद्यालय में वैश्विक मापदंड के अनुरूप शोधपरक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, आकर्षक एवं अधोभूत संरचना और विशेषज्ञ प्राध्यापकों की टीम के द्वारा उपयोगी और शोधपरक शिक्षण के साथ-साथ उच्च रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण के योगदान की सराहना करी । निश्चित रुप से यह हमारी शुरुआत है। बदलते दौर में विश्वविद्यालय परिवार के द्वारा सिर्फ विश्वविद्यालय को ही नहीं बल्कि शिक्षण प्रविधि को अपडेट करते रहना भी बहुत जरुरी है। भविष्य में भी हम छत्तीसगढ़ प्रदेश में सर्वोत्कृष्ट उच्चसुविधा प्रदान करने के लिए कृत संकल्पित हैं।

कलिंगा विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. संदीप गांधी ने एनआईआरएफ की वर्ष 2023 की 101-150 रैंकिंग में सम्मिलित होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत हम गुणवत्तापूर्ण और उच्च मानकों के अध्यापन पर जोर देते रहे हैं। विश्वविद्यालय के द्वारा शोधकार्य एवं नयी खोज करने  के लिए छात्रों एवं प्राध्यापकों को विशेष बढावा दिया जाता रहा है। कोविड महामारी के दौरान भी यहाँ पर व्यवस्थित तरीके से सत्र के अनुसार नियमित अध्ययन जारी रहा है। ऑनलाइन स्टडी के साथ एसाइनमेंट, स्टडी मटेरियल ,क्वीज के साथ देश-विदेश के प्रतिष्ठित शिक्षाविद विद्वान के सैकड़ों वेबिनार का आयोजन किया गया।

विश्वविद्यालय के द्वारा देश-विदेश के विद्वानों की उपस्थिति में अतिथि व्याख्यान, राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर की शोध संगोष्ठी एवं सम्मेलन, फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम आदि विभिन्न कार्यक्रमों के निरंतर संचालन से हम शिक्षक एवं छात्रों को नया कुछ सीखने और नया कुछ करने के लिए प्रोत्साहित करते रहे हैं। विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन स्टडी के साथ एसाइनमेंट,स्टडी मटेरियल,क्वीज के साथ आधुनिक तरीकें से अध्यापन का बहुत योगदान रहा है, निर्धारित समय पर सभी परीक्षाएं और परीक्षा परिणाम घोषित किए गए। यह कलिंगा विश्वविद्यालय की बहुत बड़ी उपलब्धि है। बेहतरीन संसाधन, संरचना और मूल्यपरक शिक्षा प्रदान करने के मामले में हम कोई समझौता नहीं करते हैं। यही कारण है कि आज हम देश के शीर्ष विश्वविद्यालयों में एक है   ओर जिससे देश के विभिन्न हिस्सों से ही नहीं बल्कि विदेश के बच्चे भी यहाँ पढ़ने के लिए आ रहे है। निश्चित रुप से यह उपलब्धि हमें और बेहतर करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।



Advertisement

Advertisement



Trending News

Important Links

© Bharatiya Digital News. All Rights Reserved. Developed by NEETWEE