स्वास्थ

कैंसर के मरीजों को मिलेगी अत्याधुनिक एक्स-रे जांच की सुविधा

पं. जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर से सम्बन्धित डाॅ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय स्थित क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में कैंसर के इलाज हेतु आने वाले मरीजों को एक्स रे जांच की अत्याधुनिक मशीन डी. आर. सिस्टम की सुविधा मिलने जा रही है

  • डी. आर. सिस्टम का लोकार्पण समारोह
  • मरीजों को नये एक्स रे सिस्टम की सौगात देगें स्वास्थ्य मंत्री

रायपुर: पं. जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर से सम्बन्धित डाॅ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय स्थित क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में कैंसर के इलाज हेतु आने वाले मरीजों को एक्स रे जांच की अत्याधुनिक मशीन डी. आर. सिस्टम की सुविधा मिलने जा रही है। डी. आर. यानी डिजिटल रेडियोग्राफी सिस्टम की नई मशीन का लोकार्पण मंत्री टी. एस. सिंहदेव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण चिकित्सा शिक्षा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, छ.ग. शासन द्वारा रविवार 8 सितम्बर को दोपहर 12 बजे क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में किया जायेगा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक रायपुर ग्रामीण सत्यनारायण शर्मा करेंगे। विशेष अतिथि के रूप में विधायक दक्षिण विधानसभा बृजमोहन अग्रवाल, विधायक उत्तर विधानसभा कुलदीप जुनेजा, विधायक पश्चिम विधान सभा विकास उपाध्याय तथा महापौर प्रमोद दुबे उपस्थित होंगे।

लोकार्पण समारोह की जानकारी देते हुए क्षेत्रीय कैंसर के संचालक एवं विभागाध्यक्ष डाॅ. विवेक चौधरी ने बताया कि लगभग 1.5 करोड़ की लागत से स्थापित डी. आर. सिस्टम मशीन से मरीजों का उच्च गुणवत्तापरक डिजिटल एक्स-रे अपेक्षाकृत कम समय में किया जा सकेगा। मरीज का एक्स-रे करने के बाद कंप्यूटर स्क्रीन पर इमेज तुरंत दिखाई देने लगती है जिससे समय की बचत होगी। निश्चित रूप से मरीजों के जांच व इलाज में यह मशीन अत्यधिक लाभदायक सिद्ध होगी।

डिजिटल रेडियोग्राफी की विशेषता

डी. आर. सिस्टम से एक्स रे करने में बहुत ही कम समय लगता है। इसमें इमेजिंग प्लेट की आवश्यकता नहीं होती है। यह एक्स-रे के जरिये शरीर के इमेज या छवि को प्राप्त करने का एक आधुनिक तरीका है जो पारंपरिक एनालाॅग इलेक्ट्रॉनिक फिल्म के स्थान पर डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक सेंसर और डिजिटल कैप्चरिंग डिवाइस का उपयोग करता है। यह एक्स-रे फिल्म को तुरंत प्राप्त करने की अनुमति देता है।

हाई प्रोसेसिंग स्पीड

पारंपरिक एक्स रे सिस्टम के मुकाबले डी. आर. की प्रोसेसिंग स्पीड (प्रसंस्करण गति) उच्च होती है जिससे छवियों का तुरंत रिव्यू किया जा सकता है। इसके लिये एनालाॅग फिल्म, कैसेट, डार्क रूम और रासायनिक प्रकियाओं द्वारा विकसित केमिकल की जरूरत नहीं पड़ती। जब मरीज का एक्स रे किया जाता है तो मशीन में लगा रिसेप्टर (संग्राहक) इमेज को कैप्चर कर लेता है और व्यू स्टेशन के साॅफ्टवेयर में स्थानांतरित कर देता है जिससे डिजिटल इमेज प्राप्त होती है। इस प्रक्रिया से प्राप्त डिजिटल छवि को संबंधित वर्कस्टेशनों में वितरित किया जा सकता है, जिससे कार्य की गति व दक्षता बढ़ जाती है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close