बिज़नेस

50 हज़ार के करीब सेंसेक्स, निफ्टी भी उछला… आल टाइम हाई पर शेयर बाज़ार…

मुंबई: कोरोना वैक्सीन के बूस्टर डोज से शेयर बाजार में रौनक है। आज यानी सोमवार को सेंसेक्स ने एक नया रिकॉर्ड कायम किया। बाजार बंद होने से पहले सेंसेक्स 49,303 के नए शिखर को छू चुका था। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 14,491.80 अंकों का नया रिकॉर्ड बना चुका था।

बता दें सकारात्मक वैश्विक रुझानों और भारी एफपीआई आवक के चलते प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 400 अंक से अधिक बढ़कर पहली बार 49,000 के स्तर को पार कर गया। इस दौरान सेंसेक्स ने आईटी शेयरों में तेजी के बल पर 49,260.21 के सर्वकालीन उच्च स्तर को छुआ और खबर लिखे जाने तक 405.45 अंक या 0.83 प्रतिशत बढ़कर 49,187.96 पर कारोबार कर रहा था। एनएसई निफ्टी 112.45 अंक या 0.78 प्रतिशत उछलकर 14,459.70 पर था।

कब-कब तोड़ा बाजार ने रिकॉर्ड

  • मार्च में निचले स्तर पर पहुंचने के बाद आठ अक्तूबर को सेंसेक्स 40 हजार के पार 40182 पर पहुंच गया था।
  • पांच नवंबर को सेंसेक्स 41,340 पर बंद हुआ था। 10 नवंबर को इंट्राडे में इंडेक्स का स्तर 43,227 पर पहुंचा था
  • 18 नवंबर को 44180 और चार दिसंबर को इसने 45000 का आंकड़ा पार किया।
  • नौ दिसंबर को सेंसेक्स पहली बार 46000 के ऊपर 46103.50 के स्तर पर बंद हुआ।
  • 14 दिसंबर को सेंसेक्स 46284.7 पर खुला। वहीं  21 दिसंबर को सेंसेक्स 47055.69 के स्तर पर पहुंच गया।
  • 30 दिसंबर को सेंसेक्स अब तक के सर्वोच्च स्तर 47,807.85 अंक तक चला गया था।
  • नए साल में 48 हजार का स्तर पार करते हुए सेंसेक्स बुधवार 6 दिसंबर को 48616.66 के नए शिखर पर खुला था।
  • 8 दिसंबर को सेंसेक्स  48797.97 के नए शिखर को छू लिया।
  • 11 जनवरी को सेंसेक्स एक नए शिखर  49,296.50 अंक पर पहुंच गया।

आगे कैसी रहेगी बाजार की चाल

रेलिगेयर ब्रोकिंग लि. की राय

  • अधिक खरीदारी के संकेत के बावजूद विदेशी संस्थागत निवेशकों की सतत लिवाली से बाजार लगातार नई ऊंचाई पर बना हुआ है।
  • इस सप्ताह जारी होने वाले वृहत आर्थिक आंकड़ों के साथ कंपनियों के तिमाही परिणाम मुख्य रूप से बाजार की दिशा तय करेंगे।

 मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज का अनुमान

  • इस सप्ताह बाजार पर बहुत हद तक वैश्विक प्रवृत्ति का असर होगा।
  • निवेशकों की परीक्षण के बाद कोविड-19 टीकाकरण अभियान व दिसंबर तिमाही के परिणाम का असर होगा
  • एक फरवरी को पेश होने वाले बजट से जुड़ी गतिविधियों पर भी नजर होगी।
  • इस सप्ताह मुद्रास्फीति और औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े भी आने हैं।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close