बिज़नेस

31 अगस्त तक 5.65 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न दाखिल

आयकर आकलन वर्ष 2019-20 के लिए आय का विवरण दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त तक विभाग को 5.65 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न प्राप्त हुए

नई दिल्ली: आयकर आकलन वर्ष 2019-20 के लिए आय का विवरण दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त तक विभाग को 5.65 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न प्राप्त हुए। यह पिछले वर्ष प्राप्त रिटर्न से चार प्रतिशत अधिक है। आकलन वर्ष 2018-19 में इस अवधि में 5.42 करोड़ आयकर रिटर्न दाखिल किए गए थे।

सरकार ने पिछले साल भी आकलन वर्ष 2018-19 के लिए रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त 2018 तक बढ़ा दी थी। जबकि बाढ़ प्रभावित केरल के करदाताओं को 15 सितंबर 2018 तक के लिए यह सुविधा दी गयी थी। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अनुसार इस साल 31 अगस्त को करीब 50 लाख लोगों ने आयकर रिटर्न दाखिल किए।बयान में कहा गया, ‘‘आयकर विभाग ने इतिहास रचा है। 31 अगस्त को एक ही दिन में 49,29,121 रिकॉर्ड ऑनलाइन आयकर रिटर्न दाखिल हुए।’’ इस साल 27 से 31 अगस्त के बीच 1,47,82,095 लोगों ने ऑनलाइन आयकर रिटर्न दाखिल किए। यह आकलन वर्ष 2018-19 की इसी अवधि में दाखिल आयकर रिटर्न के मुकाबले 42 प्रतिशत की वृद्धि है। आकलन वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त थी।

विभाग ने बताया कि आनलाइन रिटर्न भरने की सबसे तेज गति प्रति सेकेंड 196 रिर्टन रही। बयान के मूताबिक आयकर विभाग की साइबर सुरक्षा टीम ने इस अति व्यस्त समय में सेवा में व्यवधान डालने की कोशिश से किए गए 2,205 साइबर हमलों को विफल किया। कुल दाखिल 5.65 करोड़ आयकर रिटर्न में से 3.16 करोड़ रिटर्न सत्यापित किए जा चुके हैं। 2.86 करोड़ करदाताओं (79 प्रतिशत) ने ई-सत्यापन का विकल्प चुना। इसके लिए ज्यादातर आधार और एक बार के लिए पासवर्ड (ओपीटी) के माध्यम को चुना गया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close