छत्तीसगढ़बिज़नेस

छत्तीसगढ़ जनरेशन कंपनी के ताप-जल विद्युत गृहों ने रचा सर्वाधिक उत्पादन का कीर्तिमान

कोराना संक्रमण काल में भी उत्कृष्ट कार्य निष्पत्ति बनी मिसाल

रायपुर: छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर जनरेशन कंपनी के ताप और जल विद्युत गृहों ने कोरोना संक्रमण काल में भी उत्कृष्ट कार्य निष्पत्ति का प्रदर्शन किया है।

वित्तीय वर्ष 2020-21 के प्रतिवेदन के अनुसार वार्षिक विद्युत उत्पादन कुल 18857.847 मिलीयन यूनिट हुआ। जिसमें कोरबा पश्चिम विस्तार ताप विद्युत गृह 92.82 प्रतिशत संयंत्र उपयोगिता गुणांक की भागीदारी दी गई। जोकि इस ताप विद्युत गृह के जीवनकाल का सर्वाधिक पीएलएफ है। इसी तरह डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ताप विद्युत गृह ने 94.38 प्रतिशत प्लांट उपलब्धता घटक को दर्ज कर सर्वकालिक सर्वाधिक विद्युत उत्पादन का कीर्तिमान बनाया।

जनरेशन कंपनी के ताप विद्युत गृहों के अलावा जल विद्युत गृहों ने भी प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद वित्तीय वर्ष 2020-21 में 462.526 मिलीयन यूनिट विद्युत उत्पादन किया। जोकि छत्तीसगढ़ राज्य गठनोपरांत अब तक सर्वाधिक होने का कीर्तिमान है। ज्ञात हो कि जनरेशन कंपनी के जल विद्युत गृहों का पिछला अधिकतम विद्युत उत्पादन का कीर्तिमान वित्तीय वर्ष 2001-02 में 403.25 मिलीयन यूनिट दर्ज हुआ था।

ताप और जल विद्युत गृहों की उत्कृष्ट कार्य निष्पत्ति की बदौलत छत्तीसगढ़ जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों को देश भर के स्टेट सेक्टर के विद्युत गृहों की तुलना में सर्वोच्च स्थान पर होने का गौरव प्राप्त हुआ। कंपनी के विद्युत गृहों ने 70.08 प्रतिशत पीएलए. का प्रदर्शन किया, जबकि स्टेट सेक्टर के विद्युत गृहों का औसत पीएलए 42.12 प्रतिशत ही रहा। इसी तरह राष्ट्रीय ताप विद्युत गृहों का औसत पीएलए. 51.49 प्रतिशत रहा। भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय अधीन कार्यरत केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण नई दिल्ली के प्रतिवेदन दिसम्बर 2020 में दर्ज उक्त उपलब्धियों से छत्तीसगढ़ को जहां राष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित होने का ऐतिहासिक अवसर प्राप्त हुआ। वहीं पाॅवर कंपनीज के अधिकारियों-कर्मचारियों की टीम का मनोबल भी ऊंचा हुआ है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close